Ads

चुदाई के वो पन्द्रह दिन Part - 15 ( Hindi Sex Story )

अब तक आपने पढ़ा था कि दो नीग्रो मैक और गैब्रियल के साथ पुनीत मुझे चोदने की तैयारी में थे. गैब्रियल ने अपना लंड मेरी चूत से लगा दिया था.
अब आगे:
जैसे ही गैब्रियल का लौड़ा मेरी चूत में टच हुआ, मेरे तन बदन में एकदम बिजली सी रेंग गई. मैं चुदास से गर्म हुई पड़ी थी, लंड का टच मेरे मुँह से फूट पड़ा और मैं बोली- आह बहुत जोर से चोद दो मुझे!
पर अभी गैब्रियल पोजीशन में नहीं आया था तो मैक ने उसे अंग्रेजी में कुछ बोला. मुझे इतना समझ आया कि वह बोल रहा है कि ऐसी पोजीशन बनाओ कि तीनों एक साथ चोद सकें.
गैब्रियल फिर से उठा और अब बिस्तर में उसने दो तकिया उठाकर मेरी कमर के नीचे लगा दिए और मेरे को, खासतौर पर मेरी कमर को टेढ़ा करके तकिया के ऊपर उठाकर इस तरह से जमाया कि अब मेरी कमर और पिछवाड़ा दोनों बहुत उठ गए.
गैब्रियल ने मेरी एक टांग को अपने कंधे पर रखकर फिर से अंग्रेजी में कुछ बोला तो सामने से मैक आ गया. मैक ने भी अपनी पोजीशन बनाई और उसने मेरे छोटे-छोटे दूधों को अपनी हथेली में पकड़कर जमकर दबाकर भरा और मेरी चूत को अपने हाथों की हाथों से थप थप किया. मेरी चूत बहुत गीली थी, उसका जो रस निकला था मैक ने उसे जीभ से चाट लिया. फिर मेरे बगल से सामने लेट कर अपना लंड को हाथ से पकड़कर मेरी चूत में सैट किया. इधर गैब्रियल एक टांग कंधे पर रखा हुआ था. उसने मेरे बालों को पकड़ कर मेरे कूल्हों को बहुत चौड़ा किया और ढेर सारा थूक मेरी गांड पर लगा दिया. उसने बहुत सारा थूक गांड के छेद में भी लगा कर अपना लंड मेरी गांड में सैट कर दिया.
मेरे पिछवाड़े से मेरी गांड में गैब्रियल का लंड लग चुका था और मेरी तड़पती गरम चूत में मैक का लंड टच हो गया था. अब मैं अपने आप ही अपनी कमर को आगे पीछे करने लगी कि जल्दी से दोनों के लंड अन्दर घुस जाएं.
पुनीत ने अंग्रेजी में उन दोनों को कुछ बोला, उसका मतलब शायद यही था कि मैं पागल हो रही हूं.. जल्दी से मेरे को चोद दें.
पुनीत ने मुझे भी बोला- वन्द्या तू क़यामत है.. तेरा कोई जवाब नहीं है यार.. तेरी चुदास गजब है. मैंने विदेशी लड़कियों की चुदाई इतनी सारी ब्लू फिल्म देखी हैं, पर तेरे से सेक्सी और तेरे जितनी हॉट और ऐसे सुंदर फिगर वाली कोई पोर्न स्टार भी नहीं देखी. अभी तू जिस पोजीशन में है, सिर्फ तुझे देख कर ही मैं पागल हो रहा हूं वन्द्या, तू बड़ी मस्त लगती है. जिससे तेरी शादी होगी या जिसकी तू बीवी बनेगी, वह दुनिया का सबसे लकी मैन होगा, क्योंकि वह तुझे रोज नंगी देखेगा. अभी दो काले सांड नीग्रो यह ऐसे मस्त लिपटे और उनका लंड तेरी गांड और चूत में सैट हैं, ऐसा लग रहा है कि तू अप्सरा है, कयामत है.. तुझे और तेरे चेहरे का सेक्सी लुक एक्सप्रेशन आह.. मेरे लंड को जला रहा है. तेरी यह प्यासी नशीली आंखें.. लचकती 24 साइज़ की पतली कमर और बाहर को निकली हुई 36 की साइज की गांड.. उप्स लगता है सारी उम्र तुझे ऐसे ही देखता रहूं. मेरे को आज लगता है कि तुझे पाकर मैंने सब पा लिया.
मैंने उसको एक आँख मार दी.
पुनीत ने भी आँख दबाकर कहा- वन्द्या तू मुझसे शादी कर ले, मेरी बीवी बन जा तुझे रानी बनाकर रखूंगा.. मेरे पास बहुत पैसा है.. तुझे मैं बस रोज ऐसे ही चोदूंगा और तुझे ऐसे ही मस्त लौड़ों से चोदते देखूंगा.
उसकी बकवास सुनकर मैं पागल हो रही थी.. लेकिन लंड के टच से मैं मदहोश भी हो रही थी,
मैं बोली- ठीक है पुनीत, मुझे कोई दिक्कत नहीं है.. तुम बहुत मस्त हो.. पर मुझे अंग्रेजी बोलनी नहीं आती.. तो अभी तुम इन लोगों को बोलो कि मुझे चोद कर मस्त कर दें, मेरी प्यास और मेरी आग बुझा दें.. मुझे जमके चोद दें.
ये सुनकर पुनीत मेरे सामने तरफ मुँह के पास आ गया और अपना लंड हिलाने लगा. वो बोला- जरा हाथ लगा के पकड़ मेरा लौड़ा.. और अपने दूध पर रगड़ वन्द्या.. तू साली मस्त है.. मेरी सेक्सी रंडी.. मेरी डार्लिंग वन्द्या.
मैंने झट से पुनीत का लंड अपने हाथ से पकड़ लिया और रगड़ने लगी. तभी पुनीत ने उन लोगों को अंग्रेजी में मुझे चोदने को बोला.
पुनीत की बात सुनकर गैब्रियल ने मैक को अपनी भाषा में कुछ बोला, दोनों का लंड मेरी चूत और गांड को बिल्कुल तपा रहे थे. मैं पागल मदहोश हुई पड़ी थी. अपने काबू में नहीं थी. अब वो दोनों मेरी गांड और चूत में अपना लंड धीरे धीरे रगड़ने लगे. गांड का छेद, चूत के होल में लंड को टच कराते, थोड़ा सा हल्का घुसाते और फिर वहीं मसलते. उनके लंड के टोपे मुझे ऐसे पागल कर रहे थे कि बता नहीं सकती.
ऐसा करते करते अचानक से दोनों ने पूरी ताकत से एक साथ ही लंड पेल दिए. मैक ने मेरी चूत में.. और गैब्रियल ने मेरी गांड में एक झटके में लंड घुसा दिया. मेरे को इतना ज्यादा दर्द हुआ कि मैं पूरे जोर से चीख उठी और लंड घुसने में जो दर्द हुआ, उससे लगा कि मैं अभी के अभी बस मर जाऊंगी. मेरी जान निकल जाएगी. मैं जोर-जोर से रोने लगी. लेकिन वे दोनों मरदूद बहुत तेजी से अपने बचे हुए लंड मेरे अन्दर करने में लगे थे.
उनके मोटे लंड घुसने से मुझे लगा कि आज मैं नहीं बच सकती. मैंने बिस्तर की चादर को जकड़ के हाथ से पकड़ लिया और बहुत तेजी से रोने लगी. मैं इतना जोर से चिल्लाने लगी कि कमरा गूँजने लगा था- बचाओ बचाओ बचाओ … ये साले मुझे मार डालेंगे.. बहुत दर्द हो रहा है.. कोई आकर मुझे छुड़ा दे.. मैं अब बिल्कुल नहीं बचूंगी.
अभी मेरी चूत और गांड में उन दोनों का पूरा लंड नहीं घुसा था. फिर उतने में ही गैब्रियल और मैक दोनों शांत होकर आराम से मुझे रगड़ने लगे.
मैं दर्द के मारे बस रोने लगी- मम्मी बचाओ कोई बचा लो इन दरिंदों से..
तभी मैक ने पुनीत से अंग्रेजी में कहा कि सी इज वर्जिन बिकॉज शी फील सो मच टाइट.. हर पुसी इस वेरी टाईट.. एन्ड ब्लड इज कमिंग..
मैं समझ गई कि यह मुझे वर्जिन लड़की समझ रहा है.
तभी पुनीत ने बोला- नो.. सी इज नॉट वर्जिन.. सी इज लाइक प्रॉस्टिट्यूट बट नाओ यू फील वर्जिन.
तो मैक ने ‘हां..’ में सिर हिलाया.
पुनीत ने देखा और मुझे बोला कि वन्द्या तुझे यह दोनों सील पैक माल समझ रहे हैं.. तुमको वर्जिन लड़की कह रहे हैं. तुम सच में बड़ी मस्त माल हो.. तुम्हारी चूत और गांड दोनों से ब्लडिंग हुई है. तुम्हारी चूत में तो मैक का लंड जाते ही बहुत ज्यादा खून निकला है.
इतना सुनते ही मैं और तेजी से रोने लगी. मेरे रोने की आवाज सुनकर पड़ोस के लोग और ऊपर से घर के मालिक भी आ गए. वे दरवाजा खटखटा कर पूछने लगे कि कौन रो रहा है.. लड़की जैसी लगती है.. रोने की आवाज आ रही है.
तब वह स्टोर वाला लड़का और अंकित बाहर निकल कर बोले- कुछ नहीं है, बस ऐसे ही मस्ती चल रही है.
अन्दर पुनीत समझ गया कि बाहर लोग आ गए हैं तो उसने मेरा मुँह दबा लिया और बोला- साली इतना रोती है.. अब ये मस्त वर्ल्ड फेमस चुदाई के लंड नीग्रो लोगों के ही होते हैं. ये दोनों तुझे मस्त चोद रहे हैं.. फिर शोर क्यों मचाती है?
मैं बस पुनीत को देखने लगी.
फिर पुनीत उन दोनों से बोला- यह साली मेरी बीवी जैसी है.. भैन की लौड़ी को जम के और तेज चोदो.. और अन्दर तक लंड डालो.
इतने में गैब्रियल ने उत्तेजित होकर अपना पूरा लंड एक बार में मेरी गांड में घुसा दिया. मुझे इतना तेज दर्द हुआ कि मैं बेहोश हो गई. मुझे कुछ भी अब होश नहीं रहा. उधर आगे मेरी चूत में भी मैक ने अपना पूरा लंड डाल दिया. वो भी लंड चूत के अन्दर बाहर करने लगा.
मैं जोर-जोर से चिल्ला रही थी कि मार डाला.. आज नहीं बचूंगी.. मैं आज मर ही जाऊंगी.. मुझे जाने दो मादरचोदो.. छोड़ दो..
थोड़ी देर में पूरी तरह बेहोश हो गई. करीब 3-4 मिनट तक मुझे कोई होश ही नहीं रहा.
पुनीत ने मेरे चेहरे पर पानी का छींटा डाला, तब मेरा होश लौटा और फिर मुझे दर्द का एहसास होने लगा.
इतने में पुनीत बोला- साली कुतिया.. देख कैसे मस्त तेरी चुदाई हो रही है. तेरी चूत और गांड क्या गजब की टाइट है. यह विदेशी तेरी बड़ी तारीफ कर रहे हैं.
मैं बस उस देसी कुतिया सी बिलबिला रही थी, जिसकी चूत में ग्रेट डेन कुत्ते का लंड घुसा हुआ हो.
पुनीत बोला- साली ये बहुत चुदासी थी.. और जमके चोदो दोनों.
गैब्रियल मेरी गांड में अपना पूरा लंड डालकर मुझे चोदने लगा. मेरे को बहुत दर्द भी हो रहा था, पर मैं सब सहने की कोशिश करने लगी. अब उन दोनों काले सांडों ने बड़ी तेजी से मेरी चूत और गांड को एक साथ चोदना शुरू कर दिया.
पुनीत बोला कि अब तेरी चूत बहुत मस्त भोसड़ा हो जाएगी.. समझ ले आज से तू बहुत बड़ी रंडी बन गई. तेरे को कोई भी जब चोदेगा, तो उसे बहुत मजा आएगा. साली वन्द्या आज तेरी चुदाई करके हम तुझे चुदाई की क्वीन बना देंगे.. तू बहुत मस्त हो जाएगी.
मैं पुनीत के हाथ जोड़ने लगी- पुनीत मुझे छोड़ दो.. भगवान के लिए मुझ पर रहम करो.. मैं मर जाऊंगी.. मुझे बहुत दर्द हो रहा है. ये दोनों राक्षस कहां से ले आए हो. आज मैं नहीं बचूंगी, प्लीज इन से मुझे छुड़वा दो. मुझे जाने दो, मैं यह गलती कैसे कर बैठी.. मुझे नहीं आना था.. पर उधर जो द्वारपूजा के समय मेरे अन्दर निहाल और उन दो लड़कों ने मेरी अधूरी चुदाई की आग लगाई थी, उसी के कारण मैं चली आई.. मुझे माफ कर दो.. भगवान के लिए छोड़ दो, मुझे कुछ मत करो.. मुझे बहुत दर्द हो रहा है. पुनीत जी मुझे लगता है, मेरी चूत फट गयी है पीछे भी लगता है मेरी गांड को चीर फाड़ दिया है.. मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा है.
यह कहते हुए मैं रोने लगी.
तब पुनीत बोला- वन्द्या डार्लिंग.. तुझे बहुत मजा आने वाला है.. बस और आठ दस मिनट इंतजार कर ले.. फिर तू खुद पागल हो जाएगी. तेरे साथ सब जो दिख रहा है, वो कितना मस्त तेरा एक्सप्रेशन है. उसके कारण मुझे तुझसे ज्यादा सेक्सी लौंडिया कोई नहीं समझ आ रही है. आज तू मजा ले ले मेरी जान.
इतना कहकर पुनीत मेरे होंठों पर अपने होंठ रख कर मेरे होंठों को चूमने लगा और मेरे नाक को चूसने लगा. वो मुझे सहलाने लगा और हाथ से मेरे बूब्स को दबाने लगा.
वह लगातार मेरे दूधों को सहलाने लगा. इससे मुझे थोड़ी राहत मिली. अब तक उन लोगों के साथ सब कुछ करते करवाते हुए मुझे करीब एक घंटा हो गया था.
फिर पुनीत मेरे मुँह को खोल के मेरी जीभ को चूसने लगा और मेरे दूधों को जोर से ताकत के साथ दबाने लगा. मैं अब भी दर्द से कराह रही थी.
इसके बाद करीब पांच मिनट तक मुझे वो दोनों सांड मेरे दोनों छेदों को मस्ती से चोदते रहे और पुनीत मेरी जीभ को अपने मुँह में डाले चूसता रहा. इसके बाद से मुझे अब थोड़ी सी राहत मिलने लगी. ये मुझे खुद भी समझ नहीं आया कि ये कैसा खेल है.. क्या जादू है कि मेरे हाथ के बराबर मोटे लंबे दो लंड.. एक मेरी बहुत छोटी सी चूत में.. और दूसरा मेरी बहुत टाइट गांड में घुसे हुए थे और वह दोनों सांड राक्षस की तरह दिखने वाले नीग्रो बेदर्दी से मुझे चोद रहे थे. इस वजह से करीब 15 मिनट तक मुझे असहनीय दर्द भी हुआ.. मैं तीन-चार मिनट बेहोश भी रही. इस सबके बाद भी, अब ये कौन सा ऐसा जादू हुआ कि धीरे धीरे मेरा दर्द गायब हुआ और अब अचानक से मुझे अजीब सी मदहोशी और एक बेहद रोमांचक मजा आना शुरू हो गया. मैं अपनी कमर आगे पीछे खुद से हिलाने लगी.
तभी पुनीत बोला- वन्द्या तू दुनिया की सबसे सेक्सी और सबसे बड़ी चुदक्कड़ लड़की है. ये सोच तू कितनी गरम और चुदासी है कि इतने बड़े मोटे विदेशी नीग्रो के लंड तेरी गांड और तेरी चूत में डले हैं. दोनों तरफ से खून निकल आया है, पर तू सिर्फ 20 मिनट में ही फुल गरम हो कर रेडी हो गई.
मैं पुनीत का लंड अपने हाथ से पकड़कर जोर जोर से रगड़ने लगी. मैं बोली- हां पुनीत तू सच कह रहा है. मुझे अब बहुत मजा आने लगा. इन कमीनों राक्षसों को बोल कि ये मुझे और तेजी से चोदें.
मैंने पुनीत का लंड छोड़ कर सामने चूत चोद रहे मैक को कसके अपनी बांहों में जकड़ लिया और नोंचने लगी. मैं बोली- मादरचोद कुत्ते … और चोद बहुत जोर से रगड़ मेरी चूत को.. और अन्दर तक लंड डाल दे.. बहुत तेजी से चोद कमीने और अन्दर घुसा.
मुझे अंग्रेजी नहीं आती है, मैं गांव की स्कूल में पढ़ रही थी, वहां ज्यादा अंग्रेजी नहीं पढ़ाई जाती है और ना मुझे आती है. मुझे जो टूटे फूटे शब्द थे, उसी में बोलने लगी.
मैं गैब्रियल को बोली- हरामी यू फक मी हार्ड.. डॉग.. और जोर से मेरी गांड को चोद कुत्ते साले.. अब मुझसे नहीं रहा जा रहा तुम दोनों बहुत मस्त मिले हो.. मेरी सालों की प्यास है. मैं जब भी ब्लू फिल्म कालों की चुदाई देखती थी, तो मेरे मन में भी इतने ही बड़े लंड लेने के सपने आते थे. मैंने कभी नहीं सोचा कि मुझे सच में इन मोटे मोटे ऐसे लंड से कभी मेरी भी मस्त चुदाई होगी. वह भी दो-दो एक साथ..
ऐसा कहते हुए मैंने जोर से पुनीत का लंड पकड़ कर अपने मुँह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. उसके लंड को बहुत तेजी से चाटने लगी.
अब पुनीत बोला- साली मादरचोदी कुतिया.. बहुत बड़ी छिनाल बहुत बड़ी रंडी है.. गजब है तू.. मैं तुझे बोला था ना कि दस मिनट बाद तू खुद इतना चुदवाएगी कि यह लोग भी कहीं ढेर ना हो जाएं तेरे सामने.. और देख ले मेरी बात सच निकली.. वन्द्या तू बहुत मादरचोदी है.. साली बहनचोद.. ले और चूस.
पुनीत मेरे बाल पकड़कर अपना पूरा लंड मेरे मुँह में घुसा कर अन्दर तक डाले दे रहा था. वो जोर-जोर से मेरे मुँह को ही चूत की तरह चोदने लगा.
वो बोला- साली रंडी ले और चुदवा मेरे मस्त लंड से अपने मुँह को.. आह.. ले साली.. बहुत बड़ी छिनाल है तू वन्द्या तेरे जैसी चुदैलू लड़की मैंने आज तक नहीं देखी.. बहुत गजब की रांड है तू.. मुँह में और चुदवा.. फिर देख अभी के अभी बहुत मजा आएगा… और जोर से चूस मेरा लौड़ा.. तभी तुझे मजा आएगा.
तभी गैब्रियल ने अब अपना लंड तेजी से निकाला और मेरी गांड में घुसा कर अपनी पोजीशन थोड़ा सा ऊपर किया और मेरे कूल्हों को हाथ से फैलाया और अब वो बैठ कर मेरी चुदाई करने लगा. वो इतना जोर जोर से लंड डाल रहा था कि मुझे कुछ भी होश नहीं रहा.
इधर मैक को भी गैब्रियल ने कुछ अंग्रेजी में बोला कि सी इज लाइक विच.. वेरी हार्ड एस..
पुनीत ने अंग्रेजी में बोला कि हां कुत्तो, चोदो वन्द्या को.. साली तड़प रही है. इसकी टांगें फैलाकर.. इसकी पूरी चूत को फैलाकर और अन्दर तक लंड घुसाओ.. इसकी चुदाई की एकदम से पूरी तेज स्पीड वाली कर दो.
यह सुनकर अब गैब्रियल मेरी गांड में अपना लौड़ा बहुत कड़क करके और पूरी ताकत से अन्दर बाहर करने लगा और वो अपने मुँह से आवाज तेजी से निकालने लगा. वो बोला- यू आर वेरी सेक्सी वेरी हॉट गर्ल वन्द्या.
वो बहुत कुछ अपनी भाषा में भी बड़बड़ा रहा था. जिससे ये लग रहा था कि उसको मेरी गांड में जन्नत का मजा मिल रहा हो.
इसी के साथ साथ बहुत जोर से हांफने भी लगा था. तभी मैंने सोचा कि यह कैसे चोद रहा है, इसे क्या हो गया है?
तभी गैब्रियल का पूरा गरम गरम लंड रस मेरी गांड में भरने लगा और मैं बिल्कुल पागल हो गई. उसका लंड रस बहुत तेजी से मेरी गांड में इतना ज्यादा भर गया था कि मुझे होश ही नहीं रहा.
तभी पुनीत बोला- ले वन्द्या एक का काम खत्म हो गया.. साली तेरी तो बहुत मस्त गांड है.. देख किस तरह से तेरी गांड से लंड रस बह रहा है.. तेरी गांड बहुत मस्त उठान ली हुई है.. कैसे लाल सुर्ख हो रही है.
इतने में गैब्रियल अपना लंड गांड से निकाल कर बाकी रस मेरे कूल्हों में और कमर में रगड़ते हुए गिरा दिया. मैंने ऐसा सीन ब्लूफिल्मों में भी देखा था. शायद इन लोगों का स्टाइल ही ऐसा होता है.
फिर गैब्रियल मेरे पीठ को चाटता हुआ उठ गया. वो अंग्रेजी में बोला- वन्द्या यू आर सो सेक्सी हॉट गर्ल.
वो और भी बहुत कुछ बोला, पर मैं नहीं समझ पाई.
पुनीत ने मुझे बताया- साली वन्द्या, ये तेरी बहुत तारीफ कर रहा है. तेरे लिए बोलता है कि तेरे जैसी गांड आज तक कभी नहीं चोदी.. तेरी गांड वर्ल्ड की एक नंबर गांड है वन्द्या. अब तो मुझे भी तेरी गांड मारनी पड़ेगी, तू बहुत मस्त हो रही है.
यह कहकर मेरे मुँह से लंड निकाल कर, मेरे पीछे खड़े होके पुनीत मेरी गांड की तरफ आ गया. उसका लंड अब तक मैंने चाट चाट कर बिल्कुल लाल सुर्ख कर दिया था. पुनीत ने मेरे कूल्हों की तरफ जो लंड रस लगा था, उसे अपने हाथों से गांड की छेद पर लगाया और फिर अपने लंड का सुपाड़ा जैसे ही मेरी गांड में रखा, मैं उछल पड़ी और उसके थोड़े से ही दबाने पर आधा लंड मेरी गांड में घुस गया.
अब पुनीत बिल्कुल जोश में आकर बोला- साली फुल कुतिया है तू, तेरी गांड अन्दर बेहद गर्म है.. ऐसा लग रहा है कि मेरा लंड जल जाएगा. तू सच में अलग ही लड़की है, मैंने जो तेरे बारे में सुना वह कुछ भी नहीं था.. तू उससे भी बहुत आगे है. वन्द्या आज तो तेरे लिए तो इतने बड़े बड़े लंड भी छोटे पड़ गए. मैंने आज जाना कि इंडियन गर्ल भी किसी से कम नहीं है.. वन्द्या तू मादरचोदी है.. साली बहुत चुदासी है.
मैंने भी एक पीछे की तरफ गांड का जोर का धक्का दिया तो पुनीत का पूरा लंड सट से मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया. उसके बाद वह मेरे बालों को पकड़ कर जोर जोर से अन्दर बाहर अपना लंड करने लगा.
मैं अब जोश में मुँह से चिल्लाने लगी. पुनीत का लंड मेरी गांड के अन्दर जाने से मुझे जरा भी दर्द नहीं हुआ. मैं बेहद जोश में थी. इधर मैक ने सामने से अपनी पोजीशन को बदल लिया था. वो अब मेरे ऊपर बिल्कुल छा गया था. उसने मेरे सीने से अपना सीना जोड़ दिया. मेरे दूध उसके सीने में दबने लगे थे. मैक ने मुझे अपनी मजबूत और ताकतवर बांहों में जम के कस लिया और मुझे अपनी छाती से चिपका के मेरे होंठों को चूमने लगा. उसने मेरे होंठों पर अपने बहुत बड़े और बहुत गरम होंठों को रख दिया था. उसकी गर्म सांसें मेरी नाक में मेरी सांसों से टकराने लगी थीं.
मैं बहुत ज्यादा मदहोश हो चुकी थी. मैंने अपने मुँह को खोल दिया, तो मैक ने मेरे मुँह के अन्दर अपनी जीभ को डाल कर मेरी जीभ से जोड़ दिया. वो मेरी जीभ को अपने मुँह से चाटने लगा, चूसने लगा. साथ ही वो नीचे चूत में कस कस के लंड के धक्के मारने लगा.
अब मैक का लंड मेरी चूत में पूरा जड़ तक घुस रहा था और उसके झटके और धक्के से चूत से फच फच की आवाज आने लगी थी.
इधर पुनीत मुझे गंदी गंदी गालियां देकर मेरी गांड को जमके चोद रहा था. वो लगातार बहुत ही गंदी गालियां दे रहा था. मैं भी बहुत चुदासी थी और होश में नहीं थी, इसलिए उसकी गंदी गालियों से मेरा जोश और बढ़ रहा था.
पुनीत बोला- साली वन्द्या तू आज से मेरी रखैल है.. और रोज तुझे इतने मस्त लन्डों से चुदवाउंगा साली.. बहुत बड़ी रंडी है तू.. तेरी बहुत मस्त गांड है.. कुतिया.. ले मेरा लंड ले.. तेरी गांड का कोई जवाब नहीं.. अन्दर बहुत गरम और मखमली गांड है.. साली इतने बड़े बड़े लंड मस्त ले लेती है.. वो भी गांड में लेकर चुदवा लेती है.. आह.. ऐसी माल, ऐसी लड़की मैंने पहली बार देखी है.
पुनीत अब बहुत तेजी से मेरी गांड को चोदने लगा था. उसने मैक को भी बोला- मैक.. इस साली मादरचोदी वन्द्या की चूत फाड़ दे.. जोर से अपना लौड़ा डाल के चूत में जम के इसको रगड़ माँ की लौड़ी बहुत मजा दे रही है.. आह..
कहानी जारी रहेगी. आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा.

Post a Comment

0 Comments